Welcome to NBCC
NBCC Ltd.

सतर्कता कार्यकलाप

नेशनल बिल्डिंग्‍स कन्‍स्‍ट्रक्‍शन कार्पोरेशन लिमिटेड में सतर्कता कार्यकलाप, प्रबंधन का अभिन्न अंग है। एनबीसीसी का सतर्कता प्रभाग सभी सतर्कता संबंधी मामलों का नोडल केन्द्र है। इसका विश्‍वास है कि कार्य स्‍थल पर श्रेष्‍ठ पद्धतियां, पर्याप्‍त नियंत्रण तथा लिए गए निर्णयों से व्‍यावसायिक, सक्षम, प्रभावी तथा सतत निगमित उत्‍कृष्‍टता प्राप्‍त होती है। मुख्य सतर्कता अधिकारी (संयुक्‍त सचिव स्‍तर के अधिकारी) निगम के सतर्कता प्रभाग के प्रमुख हैं।

निगम के भीतर, जन सदस्यों, केंद्रीय सतर्कता आयोग, केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो, ग्राहकों तथा शहरी विकास मंत्रालय से प्राप्त शिकायतों की जाँच सतर्कता प्रभाग में की जाती है। शिकायतों की जाँच के बाद जहाँ कमियाँ/अनियमितताएं पाई जाती है वहाँ सीवीसी के मार्गनिर्देशों के तहत दोषी कर्मचारियों के विरूद्ध कार्रवाई की जाती है। निगम में भ्रष्‍टाचार को दूर करने के उद्देश्‍य से निम्नलिखित चार तरह की रणनीतियाँ अपनाई गई है जिसे भ्रष्‍टाचार निरोधक उपायों के रूप में वार्षिक कार्य योजना में शामिल किया गया है।

  • निवारक सतर्कता।
  • खोजी सतर्कता तथा निगरानी।
  • दंडात्मक सतर्कता।
  • पारदर्शिता सुनिश्चित करने के लिए आई टी नव प्रवर्तनों का उपयोग।

निवारक सतर्कता

सतर्कता प्रभाग द्वारा स्वतंत्र रूप से अथवा अन्य क्षेत्र के लोगों अथवा एजेंसियों जैसे वित्तीय लेखा परीक्षा तथा मुख्य तकनीकी परीक्षक - सीवीसी (सीटीई) के प्रतिनिधियों के साथ मिलकर समय-समय पर संवेदनशील क्षेत्रों का निरीक्षण किया जाता है‎। निरीक्षण/अन्वेषण के दौरान पाई गई सामान्य अनियमितताओं के आधार पर निगम के कर्मचारियों में जागरूकता पैदा करने के लिए परिपत्र तथा सिस्टम सुधार निर्देश जारी किए जाते हैं। सतर्कता प्रभाग द्वारा संदेहास्पद सत्यनिष्ठा वाले अधिकारियों की सूची तैयार की जाती है तथा संवेदनशील पदों पर तैनात अधिकारियों के स्थानांतरण सुनिश्चित किए जाते हैं।

निवारक सर्तकता प्रयासों के भाग के रूप में सर्तकता भाग के अधिकारियों को बाहरी प्रशिक्षण कार्यक्रमों में नियमित रूप से नामित किया जाता है। त्‍यागपत्र, पदोन्‍नति, पासपोर्ट के लिए अनापत्ति प्रमाण पत्र, वैयक्तिक यात्रा/ प्रशिक्षण इत्‍यादि के लिए विदेश जाने के संबंध में सर्तकता अनापत्ति के मामलों को लगातार आधार पर जांचा जाता है। कर्मचारियों के वार्षिक सम्‍पत्ति विवरणी की लगातार समीक्षा की जाती है।

खोजी सतर्कता

जनता के प्रतिनिधियों, लेखा परीक्षा रिपोर्टों, निरीक्षणों से प्राप्त शिकायतों के आधार पर घटिया स्तर के कार्य तथा कदाचार की गहराई से जांच की जाती है‎ तथा इन अनियमितताओं की पुनरावृत्ति को रोकने के लिए कदम उठाये जाते हैं‎।

दंडात्मक सतर्कता

केंद्रीय सतर्कता आयोग के मुख्य तकनीकी परीक्षक एवं / अथवा सतर्कता प्रभाग द्वारा अन्वेषण के उपरान्त प्राप्त रिपोर्टों के आधार पर जहॉ कहीं कदाचार अथवा भ्रष्ट आचरण पाया जाता है ऐसे दोषी कर्मचारियों के विरुद्ध अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाती है तथा दण्ड दिया जाता है‎।

पार‍दर्शिता सुनिश्चित करने के लिए आईटी नवप्रवर्तनों का उपयोग

पारदर्शिता एवं प्रभावी सतर्कता प्रशासन को सुनिश्चित करने के लिए सूचना प्रौद्योगिकी नवप्रवर्तनों का सक्रियता से उपयोग किया जा रहा है । इस दिशा में उठाए गए महत्‍वपूर्ण कदम निम्‍नलिखित हैं :

  • निगम में अधिकतर कार्यों में ई-अभिशासन कार्यप्रणाली लागू की गई है ।
  • ईनिवेश ( ट्रेजरी प्रबंधन ) , बिल निगरानी प्रणाली, वेंडर पंजीकरण इत्‍यादि के आलावा वित्‍तीय लेखा, वेतन रोल, परियोजना लेखा, परियोजना बिलिंग तथा ई भुगतानों जैसे प्रमुख क्षेत्रों में एंटरप्राइज रिसोर्स प्‍लानिंग (ईआरपी) लागू की गई है ।
  • ई निविदा/ ई नीलामी आरंभ की गई है ।
  • संविदाकारों/आपूर्तिकर्ताओं/परामर्शदाताओं/स्टाफ को ई भुगतान किए जा रहे हैं । सभी भुगतान केंद्रीयकृत ईआरपी प्रणाली के माध्यम से किए जा रहे हैं।
  • वेंडर इंटरफेज (वीआईएस), एसएमएस/ईमेल (एसएमएस) यात्रा बिलपारित/ट्रांसफर सिमुलेशन (टीबीएस/टीएसएस) तथा ई पीएमएस जैसी नई विशेषताएं ई आरपी प्रणाली में जोड़ी गई हैं।
  • क तथा ख वर्ग के सभी कार्मिकों की वा‍र्षिक संपत्ति विवरणी को वेबसाइट पर डाला गया है।
  • शिकायतों की स्थिति की प्रभावी रूप से निगरानी हेतु शिकायतों के डाटाबेस रख-रखरखाव करने तथा प्रभावी शिकायत प्रबंधन प्रणाली में सुधार, सतर्कता प्रभाग में शुरू किया गया है ।